0

गुड़ चने के प्रसाद का प्रचलन ऐसे हुआ शुरू

सोमवार,जनवरी 20, 2020
0
1
ईरान वर्तमान में एक इस्लामिक देश है। ईरान की सीमा हर काल में घटती-बढ़ती रही है। आज का ईरान प्राचीन काल के ईरान से बहुत भिन्न है। प्राचीन काल के ईरान को सबसे पहले सिकंदर ने ध्वस्त किया और फिर बाद में तुर्क एवं अरब के लोगों ने नेस्तनाबूद कर दिया। आओ ...
1
2
कहते हैं कि प्राचीन काल में कई लोग और समूह भारत से बाहर जाकर बस गए थे और अब उन्हें पूर्ण रूप से विदेशी माना जाता है। हालांकि उनमें से कुछ समूह यह मानते हैं कि कहीं न कहीं उनका संबंध भारत और उसके धर्म से है। आओ जानते हैं ऐसी ही जातियों के बारे में ...
2
3
हिन्दू धर्म में विवाह के कई प्रकार हैं जिसमें से ब्रह्म विवाह को ही विवाह का उत्तम और वैदिक विवाह माना गया है। हिन्दू धर्म में ऐसे 5 विवाह के बारे में जानकारी जिन्हें देखने के लिए सभी देवी और देवता तो उपस्थित थे ही साथ ही उक्त विवाह की पुराणों में ...
3
4
वेद और पुराणों में भारतीय ऋषि और राजाओं के बारे में विस्तार से मिलता है। ऐसे कई राजा है जिनको भारत के लोग बहुत कम ही जानते होंगे जबकि ये राजा उतने ही महान थे जितने की चक्रवर्ती राजा भरत और सम्राट अशोक। लेकिन वक्त के साथ इनकी महानता का इतिहास में कम ...
4
4
5
भारत में जो भी रह रहे हैं वे सभी ऋषि और मुनियों की संतानें हैं। चाहे वह सूर्यवंशी हो, असुरवंशी हो, चंद्रवंशी हो या अन्य किसी भी कुल से हो। ऋषियों में बहुत से ऐसे ऋषि थे जिन्होंने वेदों को संभालने के लिए वेदों के विभाग करने उन्हें अनेक शाखाओं में ...
5
6
आक्रांताओं के द्वारा तोड़े जाने के बावजूद भारत में आज भी वास्तु के अनुसार चमत्कृत कर देने वाले मंदिर स्थित है। उन्हीं में से एक है भगवान शिव को समर्पित तंजावुर या तंजौर का बृहदीश्वर मंदिर जिसे 'बड़ा मंदिर' कहते हैं। भारत की मंदिर शिल्प का उत्कृष्ट ...
6
7
वर्ष 2019 घटनाप्रधान वर्ष रहा है। इसमें जहां राजनीतिक उथल-पुथल देखने को मिली वहीं धर्म क्षेत्र में भी काफी कुछ देखने को मिला। बहुत अधिक धार्मिक घटनाओं के बीच वर्ष 2019 के निम्नलिखित 5 संत सबसे ज्यादा चर्चा में रहे।
7
8
केरल के कोट्टायम जिले में तिरुवेरपु या थिरुवरप्पु में भगवान श्रीकृष्ण का एक प्रसिद्ध और चमत्कारिक मंदिर है जिसे तिरुवरप्पु श्री कृष्ण मंदिर कहते हैं। इस मंदिर के संबंध में कई तरह की किवदंतियां जुड़ी हुई है। एक यह है कि जब भगवान श्रीकृष्ण ने कंस को ...
8
8
9
महाराष्ट्र के अहमदनगर के आसपास के कुछ हिस्सा प्राचीन भारत के 16 महाजनपदों में एक अश्मक के हिस्से थे। कहते हैं कि संपूर्ण महाराष्ट्र सम्राट अशोक के शासन के अधिन था। 230 से 225 ईस्वी तक यहां सातवाहन शासकों का शासन रहा। इसके बाद वाकाटक का शासन रहा।
9
10
छत्रपति शिवाजी महाराज ने 26 अप्रैल 1645 में हिंदवी स्वराज स्थापित करने की शपथ ली थी। उन्होंने बारह मावल प्रांतों से कान्होजी जेधे, बाजी पासलकर, तानाजी मालुसरे, सूर्याजी मालुसरे, येसाजी कंक, सूर्याजी काकडे, बापूजी मुदगल, नरसप्रभू गुप्ते, सोनोपंत डबीर ...
10
11
क्या अयोध्या दुनिया की पहली स्मार्ट सिटी थी? अयोध्या के बारे में जितना लिखा जाए उतना कम है। रामायण काल से महाभारत काल तक यह नगर दुनिया का सबसे शानदार नगर हुआ करता था। आओ जानते हैं कि कैसे यह उस दौर की स्मार्ट सिटी थी।
11
12
अयोध्या हिन्दुओं के प्राचीन और 7 पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है। यह प्राचीन नगर रामायण काल से भी पुराना है। अयोध्या ने बहुत कुछ देखा और भोगा है। आओ जानते हैं अयोध्या के बारे में 10 महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर।
12
13
सरयू नदी के तट पर बसी अयोध्या नगरी को रामायण अनुसार विवस्वान (सूर्य) के पुत्र वैवस्वत मनु महाराज द्वारा स्थापित की गई थी। स्‍कंदपुराण के अनुसार अयोध्‍या भगवान विष्‍णु के चक्र पर विराजमान है। यह हिन्दुओं की प्राचीन सप्तपुरियों में से एक है।
13
14
भगवान चित्रगुप्त के बारे में सभी जानते होंगे। चित्रगुप्त यमराज के यमलोक में न्यायालय के लेखक हैं। उन्हें यमराज का मुंशी भी कहा जाता है। वे यमराज के बहनोई हैं। ब्रह्मा की काया से उत्पन्न होने के कारण इन्हें 'कायस्थ' भी कहा जाता है। विश्‍वकर्मा की तरह ...
14
15
बोधी धर्मन या बोधिधर्म एक बौद्ध भिक्षु थे। बोधिधर्म का जन्म दक्षिण भारत के पल्लव राज्य के कांचीपुरम के राज परिवार में हुआ था। वे कांचीपुरम के राजा सुगंध के तीसरे पुत्र थे। छोटी आयु में ही उन्होंने राज्य छोड़ दिया और भिक्षुक बन गए। 22 साल की उम्र में ...
15
16
तमिलनाडु में कई प्राचीन शहर है जिसमें से एक है महाबलीपुरम जो समुद्र तट पर स्थित है। इस शहर का इतिहास बहुत ही प्राचीन और भव्य है। यहां प्रस्तुत है संक्षिप्त जानकारी।
16
17
राक्षसराज रावण महापंडित था। उसकी विशाल सेना थी और उसने कई युद्ध लड़े थे। भगवान राम ने उसका वध कर दिया था। आओ जानते हैं उसके परिवार के बारे में।
17
18
रावण बहुत ही ज्ञानी महापंडित होने के साथ ही ज्योतिष, वास्तु और विज्ञान का ज्ञान भी रखता था। वह दिव्य और मायावी शक्तियों का ज्ञाता था। आओ जानते हैं उसके 10 ऐसे कायों के बारे में जिसे जानकर आप आश्चर्य करेंगे।
18
19
गुजरात में सोमनाथ के मंदिर में स्थित भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में एक और पहला ज्योतिर्लिंग है। आक्रमण के पहले सोमनाथ मंदिर का इतिहास बड़ा ही विलक्षण और गौरवशाली था।
19
विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®